इश्क में इंसान पहले ही पागल हो जाता,
ना खाता-पीता ना-सोता-जगता.!

और कितना करना है पागल को पागल,
परवाना बेचारा हरदम पिस्ता.!!

Filed under:

Source:: Mehfil101