उनकी हंसी पतझड़ में भी बहार ले आती.!
यार”सागर”की शायरी में निखार ले आती.!!

Filed under:

Source:: Mehfil101